अधिक खोज विकल्प
हम अपने सबसे अच्छा प्रस्ताव - के लिए 100 से अधिक दुकानों में कृपया इंतजार देख रहे हैं…
- शिपिंग लागत के लिए भारत (संशोधित करें करने के लिए GBR, USA, AUS, NZL, PHL)
प्रीसेट बनाएँ

9788173154256 - के लिए सभी पुस्तकों की तुलना हर प्रस्ताव

9788173154256 - J N DIXIT: BHARAT-PAK SAMBANDH(Hindi) - पुस्तक
1
J N DIXIT (?):

BHARAT-PAK SAMBANDH(Hindi) (2009) (?)

डिलीवरी से: संयुक्त राज्य अमेरिकायह एक किताबचा पुस्तक हैनई किताब

ISBN: 9788173154256 (?) या 8173154252, अज्ञात भाषा, Prabhat Prakashan, किताबचा, नई

4.460 (US$ 60,00)¹ + शिपिंग: 118 (US$ 1,58)¹ = 4.578 (US$ 61,58)¹(दायित्व के बिना)
विक्रेता/Antiquarian से, BookVistas [54483961], New Delhi, DELHI, India
Printed Pages:536
विक्रेता टिप्पणी BookVistas [54483961], New Delhi, DELHI, India:
विक्रेता रेटिंग: 4, NEW BOOK, New
मंच क्रम संख्या Abebooks.com: 16592012399
कीवर्ड: BHARAT-PAK SAMBANDHJ N DIXIT9788173154256
डेटा से 06.03.2017 00:58h
ISBN (वैकल्पिक notations): 81-7315-425-2, 978-81-7315-425-6
9788173154256 - J N DIXIT: BHARAT-PAK SAMBANDH - पुस्तक
2
J N DIXIT (?):

BHARAT-PAK SAMBANDH (?)

डिलीवरी से: भारतनई किताब

ISBN: 9788173154256 (?) या 8173154252, अज्ञात भाषा, नई

985 (US$ 13,25)¹ + शिपिंग: 74 (US$ 1,00)¹ = 1.059 (US$ 14,25)¹(दायित्व के बिना)
शिपिंग लागत के लिए: IND
विक्रेता/Antiquarian से, D.K. Printworld (P) Ltd.
New.
मंच क्रम संख्या Biblio.com: 909784832
डेटा से 06.03.2017 00:58h
ISBN (वैकल्पिक notations): 81-7315-425-2, 978-81-7315-425-6
9788173154256 - J N DIXIT: BHARAT-PAK SAMBANDH(Hindi) - पुस्तक
3
J N DIXIT (?):

BHARAT-PAK SAMBANDH(Hindi) (2009) (?)

डिलीवरी से: भारतयह एक किताबचा पुस्तक हैनई किताब

ISBN: 9788173154256 (?) या 8173154252, अज्ञात भाषा, Prabhat Prakashan, किताबचा, नई

4.460 (US$ 60,00)¹ + शिपिंग: 149 (US$ 2,00)¹ = 4.609 (US$ 62,00)¹(दायित्व के बिना)
शिपिंग लागत के लिए: IND
विक्रेता/Antiquarian से, A - Z Books
Prabhat Prakashan, 2009. Paperback. New. Printed Pages:536
मंच क्रम संख्या Biblio.com: 837814287
डेटा से 06.03.2017 00:58h
ISBN (वैकल्पिक notations): 81-7315-425-2, 978-81-7315-425-6
9788173154256 - J N DIXIT: BHARAT-PAK SAMBANDH - पुस्तक
4
J N DIXIT (?):

BHARAT-PAK SAMBANDH (?)

डिलीवरी से: भारतनई किताब

ISBN: 9788173154256 (?) या 8173154252, अज्ञात भाषा, नई

558 (US$ 7,51)¹ + शिपिंग: 149 (US$ 2,00)¹ = 707 (US$ 9,51)¹(दायित्व के बिना)
शिपिंग लागत के लिए: IND
विक्रेता/Antiquarian से, Indianbooks
Hard Bound . New. Year of publication 8173154252
मंच क्रम संख्या Biblio.com: 655697008
डेटा से 06.03.2017 00:58h
ISBN (वैकल्पिक notations): 81-7315-425-2, 978-81-7315-425-6
9788173154256 - J.N. Dixit: Bharat-Pak Sambandh - पुस्तक
5
J.N. Dixit (?):

Bharat-Pak Sambandh (2009) (?)

डिलीवरी से: भारतपुस्तक अंग्रेजी भाषा में हैयह पुस्तक एक hardcover पुस्तक एक पुस्तिका नहीं हैनई किताबइस पुस्तक के प्रथम संस्करण

ISBN: 9788173154256 (?) या 8173154252, अंग्रेजी में, 536 पृष्ठ, Prabhat Prakashan, hardcover, नई, प्रथम संस्करण

409 + शिपिंग: 80 = 489(दायित्व के बिना)
Usually dispatched within 6-10 business days
विक्रेता/Antiquarian से, A1webstores
भारत-पाकिस्तान संबंधों के बारे में कुछ अनुमान अकसर लगाए जाते हैं-पहला, भारत व पाकिस्तान में आम लोग एक- दूसरे के संपर्क में आना चाहते हैं, लेकिन सरकारें इसे रोकती हैं; दूसरा, भारतीयों और पाकिस्तानियों की नई पीढ़ी पुराने पूर्वाग्रहों को तोड़ सकती है; तीसरा, सांस्कृतिक व बौद्धिक संपर्क के समर्थन से सामान्य आर्थिक व तकनीकी सहयोग आपसी संबंधों में सुधार ला सकता है यह पुस्तक इन अनुमानों की उपयुक्‍तता की जाँच करने का महत् प्रयास करती है अब तक विभाजन की यादें धुँधली होती नहीं दिखीं, न ही पूर्वग्रहों से मुक्‍त‌ि मिली है पाकिस्तान भारत के साथ आर्थिक संबंधो के बारे में गंभीर आशंकाओं से ग्रस्त है, क्योंकि उसे डर है कि एक बड़े पड़ोसी द्वारा उसका शोषण किया जा सकता है और उसे दबाया जा सकता है यह अनुमान लगाना तार्किक होगा कि सूचना-क्रांति तथा आर्थिक भूमंडलीकरण पाकिस्तान और भारत को अपनी प्रवृत्तियाँ व नीतियों बदलने के लिए विवश कर सकते हैं किंतु ये पूर्वानुमान 11 सितंबर, 2001 को अमेरिका पर हुए आतंकवादी हमले के बाद नाटकीय तरीके से बदल गए दो माह बाद भारतीय संसद् पर आक्रमण के बाद भारत-पाकिस्तान तनाव चरम सीमा पर पहुँच गया । अब जनरल मुशर्रफ एक दुविधापूर्ण स्थिति में हैं । यदि उन्हें सत्ता में रहना है तो वह अपने देश में इसलामी कट्टरपंथियों का एक सीमा से अधिक विरोध नहीं कर सकते । दूसरी ओर, उन्हें धार्मिक कट्टरता और आतंकवाद से खुद को अलग करने के अमेरिका के नेतृत्ववाले अंतरराष्‍ट्रीय दबाव का ध्यान भी रखना है । अत: प्रतीत होता है, भारत-पाकिस्तान संबंध एक और जबरदस्त घुमाववाले मोड़ पर पहुँच चुके हैं । -ड्सी पुस्तक से, hardcover, संस्करण: 1ST, लेबल: Prabhat Prakashan, Prabhat Prakashan, उत्पाद समूह: Book, प्रकाशित: 2009, स्टूडियो: Prabhat Prakashan
मंच क्रम संख्या Amazon.in: GmvPp6DGjN5ybt0w5G%2FCXZYOHd%2 BGV0bUkyvgAX0koQAtsR5gS1YcLvS7 YipzSHK5MSMyTnQbUCXNkO8bg2Hd%2 Bf9EOJYW8Ltg%2Fo%2BM4ehD8mQGj2 kg0bJ9Dke7kkKDgFi8BB2fdTs5S7HA zhowo12yNLLFJvSagTI8
कीवर्ड: Action & Adventure, Arts, Film & Photography, Biographies, Diaries & True Accounts, Business & Economics, Children's & Young Adult, Comics & Mangas, Computing, Internet & Digital Media, Crafts, Home & Lifestyle, Crime, Thriller & Mystery, Exam Preparation, Fantasy, Horror & Science Fiction, Health, Family & Personal Development, Historical Fiction, History, Humour, Language, Linguistics & Writing, Law, Literature & Fiction, Maps & Atlases, Politics, Reference, Religion, Romance, Sciences, Technology & Medicine, Society & Social Sciences, Sports, Textbooks, Travel, Books
डेटा से 06.03.2017 00:58h
ISBN (वैकल्पिक notations): 81-7315-425-2, 978-81-7315-425-6

9788173154256

सभी उपलब्ध पुस्तकों के लिए अपना ISBN नंबर मिल 9788173154256 तेजी से और आसानी से कीमतों की तुलना करें और तुरंत आदेश।

उपलब्ध दुर्लभ पुस्तकें, प्रयुक्त किताबें और दूसरा हाथ पुस्तकों के शीर्षक "BHARAT-PAK SAMBANDH(Hindi)" से J.N. Dixit पूरी तरह से सूचीबद्ध हैं।

पास किताबें

>> पुरालेख के लिए